लिनक्स ओपरेटिंग क्या है? और लिनक्स डाउनलोड कैसे करें?

By | September 27, 2021

लिनक्स ओपरेटिंग क्या है? और लिनक्स डाउनलोड कैसे करें? – अगर आपने कभी भी लैपटॉप या पीसी का उपयोग करते है तो विंडो के बारे में तो आपको पता ही होगा लेकिन क्या आप लिनक्स के बारे में जानते हैं?क्या आपने कभी लिनक्स ओपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया है। लिनक्स वैसे तो एक बहुत चर्चित ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसका उपयोग बड़ी बड़ी आईटी कंपनियों द्वारा किया जाता है।यह ऑपरेटिंग सिस्टम आज के पूरे इंटरनेट वर्ल्ड को बनाने में सहियोगी रहा है।आईटी के क्षेत्र में वैसे तो बहुत सारे ऑपरेटिंग सिस्टम होते है परंतु लिनक्स की महत्ता बाकी और ऑपरेटिंग सिस्टम से ज्यादा है।जिसके बावजूद भी बहुत सारे लोग इसके बारे में नहीं जानते है कि यह क्या है और इसका उपयोग क्या है।

अगर आप कंप्यूटर में दुनिया से जुड़े नहीं है तो आप भी इसके बारे में नहीं जानते होंगे की लिनक्स नामक यह ऑपरेटिंग सिस्टम है क्या? यह एक प्रकार की अश्चर्ज की बात है कि इंटरनेट जगत के निर्माता और सहयोगी लिनक्स के बारे में किसीको कुछ भी पता नहीं है।आज के समय के सबसे बड़े खोज इंटरनेट, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, एंड्रॉइड, स्मार्टफोन, और सुपरकंप्यूटर जैसी चीजों को काम करने के लायक बनाने वाला एक मात्र ऑपरेटिंग सिस्टम है लिनक्स।

Read More – Pegasus Spyware क्या है? | What is Pegasus Spyware In Hindi

अगर आपभी नहीं जानते कि लिनक्स क्या है और इसको डाउनलोड कैसे किया जाता है तो आज हमारा यह आर्टिकल आपके लिए ही है। आज हम इस आर्टिकल में लिनक्स के बारे में सारी जरूरी जानकारियां देंगे। आज हम आपको लिनक्स के बारे में अच्छे समझाने की कोशिश करेंगे और यह क्या होता है, यह कहां से आया है, वह इसका क्या महत्व है। यह इतना महत्वपूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम क्यों माना जाता है? इसके उपयोग से इंटरनेट को कैसे काम कराया जाता है कि सारी जानकारियां आज हम आपको इस आर्टिकल के अंदर देंगे। तो चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं लिनक्स के बारे में।

लिनक्स ओपरेटिंग सिस्टम क्या है और इसको कैसे डाउनलोड करें?

लिनक्स विंडोज एक्सपी , विंडोज 7, विंडोज 10, व एप्पल आईएसओ के समान ही कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम है। यह एक ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसको आप लैपटॉप या कंप्यूटर पर इंस्टॉल कर सकते हैं। इसमें आप वह सारे काम कर सकते हैं जो आप विंडो ऑपरेटिंग सिस्टम की मदद से करते हैं।लिनक्स को वायरस फ्री ऑपरेटिंग सिस्टम भी कहते हैं। जो कि आज की इस इंटरनेट की दुनिया लिनक्स से ही बनी हुई है। लिनक्स एक फ़्री और ओपन सोर्स है इसलिए इसके सोर्स कोड को जी एन यू यानी जीनियस पब्लिक लाइसेंस यानी कमर्शियल और नॉन कमर्शियल तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं।

जी एन यू के अंदरआने वाले सॉफ्टवेयर को आप फ्री में अपने हिसाब से मॉडिफाई कर सकते हैं या लोगों और नाम बदल कर भेज भी सकते।इसमें शर्त यही रहती है कि आपके द्वारा मॉडिफाई किया हुआ सॉफ्टवेयर भी जी एन यू लाइसेंस के अंदर ही आएगा।

ओपन सोर्स क्या है?

आप उपयुक्त सॉफ्टवेयर के कोड को बदलकर अपने हिसाब से मॉडिफाई कर सकते हैं यही ओपन सोर्स का मतलब होता है। सरल शब्दों में कहें तो ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर सोर्स कोड सबके लिए ओपन रहता है इसे अपने हिसाब से आप मॉडिफाई कर सकते हैं या बदल सकते हैं ।इसमें आपको किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी दुनिया के जितने भी ओपन सॉफ्टवेयर है उन सभी का ही डेवलपर सुधारना लिनक्स का कार्य होता है। जिससे और भी रिलायबल हो जाता है।

लिनक्स कर्नल क्या होता है

किसी भी ऑपरेटिंग सिस्टम का वो हिस्सा या कॉड जो कि सीधे हार्डवेयर से इंटरैक्ट करता है उसे कर्नल कहते है।कंप्यूटर को स्टार्ट करने पर सबसे पहले ऑपरेटिंग सिस्टम का कर्नल ही मेमोरी में लोड होता है। कर्नल में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बीच में ट्रांसलेट का काम भी करता है ।

लिनक्स को डाउनलोड कैसे करें?

अगर आप एंड्रॉयड स्मार्टफोन काम में ले रहे हैं तो आप लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम को ही काम में ले रहे हैं। अगर आप लैपटॉप या पीसी में इसे डाउनलोड करना चाहते हैं तो आप इसके बहुत सारे अलग-अलग वर्जन को डाउनलोड या इंस्टॉल कर सकते हैं। आप चाहे तो बिना इंस्टॉल किए बुटेबल पेनड्राइव या फिर डीवीडी बनाकर भी वीडियोस पीसी पर ही लिनक्स का आनंद उठा सकते हैं। वर्तमान में लिनक्स के कई वर्जन उपलब्ध है सभी में लगभग एक से बढ़कर एक फीचर है लेकिन उनके डेक्सटॉप इन्वायरमेंट में अंतर है। जिनके आधार पर आप उन्हें चुन सकते हैं।

निष्कर्ष

लिनक्स एक ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसकी मदद से बहुत सारे आईटी कंपनियां अपने बड़े बड़े हैकर या फिर प्रोग्रामस को प्रोफेशनल कार्यों में उपयोग करने के लिए सहयोग करती है।अगर आप लिनक्स को अच्छे से समझ गए तो आप इस पर अपने हिसाब से काम कर सकते हैं और अपनी पसंद से इसे बिल्ट भी कर सकते हैं।तो अगर आप एक आईटी एक्सपर्ट है तो आपको लिनक्स ऑपरेटिंग सिस्टम को जरूर इस्तेमाल करके देखना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *